Monday, March 10, 2014

देश दिशा से चलता है

वो जो वोट लेने के बाद संसद में सोने जाते है,
बात जिस मुद्दे की होती है, बस उसे छोड़ कर सब बतियाते है.
ये योजना, वो विकास, कभी इंदिरा आवास, हर बार हमें फुसलाते है.
रोटी नही मिल पाती गरीब बेचारे को, यह हेलिकॉप्टर पे ऐश लुटाते है,
क्यूँ हर रोज मारते हो हक़ हमारा, तुमको हमारे हक़ नजर नही आतें है

देश दिशा से चलता है, लेकिन टैक्स का पैसा, बाहर जमा क्यों होता है
मत दो हमको भीख ....बर्तन, आटे-दाल स्कीमो की,
मत करो मजबूर हम लोगो को, लाचार और बेबस जीवन जीने की
क्या मुंह ले कर तुम वोट मांगने आओगे, इस बार दिखाना है तुमको, झाड़ू ही झाड़ू चालयेंगे,
खोये पड़े थे चूर नशे में आज़ादी के, अब स्वराज ले कर खुद के राज चलाएंगे ...... !!!

रमन बिश्नोई 

No comments: