Sunday, February 16, 2014

अपना फ़र्ज़ याद आने लग गया है...!!!

तुफानी जोश भर गया है, होश आने लग गया है
ए वतन तेरे लिए मुझे अपना फ़र्ज़ याद आने लग गया है ...............!!!

CM सडको पे सोने लग गया है, कुछ तो अच्छा होने लग गया है.
ए वतन तेरे लिए मुझे अपना फ़र्ज़ याद आने लग गया है ...............!!!

जीने की चाह ख़तम हो रही थी, लेकिन अब आनंद आने लग गया है,
ए वतन तेरे लिए मुझे अपना फ़र्ज़ याद आने लग गया है ...............!!!

जोड़ते चलो भाई/बहनो .................... जय हिन्द

No comments: