Thursday, March 29, 2012

इश्क-मोहब्बत ...

अपने दिल में हर तेरी याद सजा लेंगे,
 चोरी-चोरी तुम्हे अपना बना लेंगे !

तुम्हारे लिए अपना सिर झुकाए खड़े हैं,
 चोरी-चोरी तुम्हारे सपने चुरा लेंगे !


इश्क-मोहब्बत ही जिंदगी होती है रमन,
 वरना जिंदा रहके भी कहाँ जिंदा रहेंगे !!!!

दो पलों से ...

महबूब जो आये गली में,
 उनका दीदार हो गया,
किस्सा जो सुना मोहब्बत का,
 दिल बेकरार हो गया !
कहानी सुनते रहे उनकी जुबा से,
 देखा कहाँ मेरा प्यार खो गया !
उन्होंने जो दी वो सजा कम लगी,
 इतना उन्ह दो पलों से रमन को प्यार हो गया !!!!

Friday, March 16, 2012

जिंदगी ... मज्जेदार सा फ़साना है !!!

जिंदगी तुं एक मज्जेदार सा फ़साना है,
कोई यहाँ मरने का बहाना ढूंढे, 
किसी ने जीने के लिए पल-पल मर जाना है !!!

कोई यहाँ सच के पीछे जान देता है, 
कोई लालच में जान लेता है,
फिर भी हर किसी को मौत के उस पार जाना है !!! 

जिंदगी तूं सफ़र है मौत से मिलने का,
किसी ने हँस के तो किसी ने रो के जाना है,
जिसको भी तूं संग समझे वही पर धोखा खाना है !