Wednesday, August 17, 2011

सुबह की भोर...

सुबह की भोर, गीत मोहब्बत के सुना रही है,
नही करती किसी से गिला, ऐसे सुर में गा रही है !!!

No comments: