Saturday, July 2, 2011

जिनके साथ कभी.....

चंद लम्हे गुजारे थे जिनके साथ कभी, 
 हमारे रस्ते के वो हमसफ़र बन गये थे,
उन्होंने तो देखा ही नही पीछे मुड के कभी,
 हमारे पाँव में कितने छाले पड़ गये थे !

No comments: