Friday, June 17, 2011

तू मुझसे ....

मैं आज भी उदास है क्यूंकि तू मुझसे रूठी है, 
कब समझेगी तू की तेरे बिना मेरी हर उम्मीद टूटी है !

मेरी जिंदगी को सुना करके तुम्हे क्या मिला,
प्यार में तडपाने की खूब सजा तुमने सोची है !


मैंने सोच के नही किया था प्यार तुमसे,
तुने खुद ही तो मेरी ऐसी हालत कर दी है !


जब बीच राह में छोड़ ही देना है ओ बे-रहम,
फिर क्यों दीवानों की तरह मुझसे बात किया करती है !


मैं आज भी उदास है क्यूंकि तू मुझसे रूठी है,
कब समझेगा तू की बिन तेरे मेरे हर उम्मीद टूटी है !

No comments: