Saturday, April 16, 2011

दिल में मेरे.....

क्यों दिल आज यूँ उदास है, 
 कोई हमको दे रहा आवाज है |
क्यों चुप है सब रास्ते, 

 कोई मंजिल पे कर रहा इंतज़ार है |
क्यों रोक नही पाता बहने से आंसू, 

 कोई पोंछने को तैयार है |
क्यों रूठ जाते है कई दोस्त, 

 कोई बनने को बेकरार है |
नही जीना अब इस हाल में मुझको, 

 जो था नही अपना, क्यों उसके लिए दिल में मेरे प्यार है |

No comments: