Thursday, November 18, 2010

लड़की होने पर !

अब वो जमाने गए.....जब लड़का होने पर ढोल बजते थे !
जमाना आज बदल रहा है ... लड़की होने पर गीत शगुन का बज रहा है !!!

8 comments:

Pratik Maheshwari said...

फिलहाल इतनी सच्चाई नहीं है इस बात में पर सच्चाई आ जाए तो बहुत खूब बात होगी..

Raman said...

Pratik ji ... i have examples so dil se nikli yahi aawaj.

monika said...

sahi keh rhe hi aap

Raman said...

Thanks Monika Ji ... Bhartiya Nari ... Zindabaad

priyanka said...

really true!

babita said...

hiiiiiiii friends..............
दिन हुए वो तूफ़ान नही आया,

उस हसीं दोस्त का कोई पैगाम नही आया,

सोचा में ही कलाम लिख देता हूँ,

उसे अपना हाल- ए- दिल तमाम लिख देता हूँ,

ज़माना हुआ मुस्कुराए हुए,

आपका हाल सुने... अपना हाल सुनाए हुए,

आज आपकी याद आई तो सोचा आवाज़ दे दूं,

अपने दोस्त की सलामती की कुछ ख़बर तो ले लूं ........

babita said...

i like dsssss.......

Amit Soni said...

a son is a son only before his marriage,
a daughter is daughter till she dies